" मुख्यमंत्री जन-वन योजना "

" मुख्यमंत्री जन-वन योजना "

झारखण्ड राज्य में पर्यावरण संतुलन बनाये रखने हेतु हरित क्षेत्र बढ़ाया जाना आवश्यक है। राज्य में हरित क्षेत्र वृद्धि हेतु निजी भूमि पर वृक्षारोपण को प्रोत्साहन देकर किसानों की आय के साधन में वृद्धि के साथ- साथ राज्य के अधिसूचित वनों पर दबाव भी कम किये जाने की योजना है। इस उद्देश्य हेतु राज्य में "मुख्यमंत्री जन- वन योजना" लागू की जा रही है।

इस योजना के अंतर्गत ग्रामीणों / लाभुकों को निजी भूमि पर वृक्षारोपण एवं खेत की मेड़ पर वृक्ष लगाने हेतु प्रेरित किया जायेगा तथा वृक्षारोपण एवं रख- रखाव पर हुए व्यय की आंशिक राशि प्रोत्साहन स्वरूप उन्हें वन विभाग द्वारा प्रदान की जायेगी।

इस योजना के अंतर्गत राजस्व अभिलेखों के अनुसार उचित स्वामित्व रखने वाले व्यक्ति को उसके स्वेच्छा से विभाग द्वारा निर्धारित प्रक्रिया एवं प्रजातियों का सफल वृक्षारोपण करने पर निर्धारित लागत राशि का 50 प्रतिशत अंश निर्धारित प्रक्रिया अनुसार प्रोत्साहन के रूप में उन्हें दिया जायेगा।

आगे पढ़ें...

प्रशासन



JAV VAN

JAV VAN

योजना

झारखण्ड राज्य में पर्यावरण संतुलन बनाये रखने हेतु वन आच्छादित क्षेत्र को बढ़ाया जाना आवश्यक है। राज्य में वन आच्छादित क्षेत्र को बढ़ाने हेतु निजी भूमि पर वृक्षारोपण को बढ़ावा देकर किसानों की आय के साधन में वृद्धि के साथ- साथ राज्य के अधिसूचित वनों पर दबाव को कम किया जा सकता है। इन उद्देश्यों की पूर्ति हेतु राज्य मे "मुख्यमंत्री जन वन योजना" लागू करने का प्रस्ताव है।

इस योजना के अंतर्गत राजस्व अभिलेखों के अनुसार उचित स्वामित्व रखने वाले व्यक्ति को उनके स्वेच्क्षा से विभाग द्वारा निर्धारित प्रक्रिया एवं प्रजातियों का अपनी निजी भूमि पर (ब्लॉक वृक्षारोपण अथवा खेत की मेड़ पर रेखिक वनरोपण) वृक्षारोपण किया जायेगा। प्रोत्साहन- स्वरूप वृक्षारोपण एवं उसके रख- रखाव पर हुए व्यय के 50 प्रतिशत अंश की प्रतिपूर्ति विभाग द्वारा की जायेगी।

  • प्रदेश के हरित क्षेत्र में वृद्धि कर पर्यावरण संतुलन कायम रखना।
  • वृक्षारोपण के माध्यम से भू-जल संरक्षण करना।
  • निजी क्षेत्र में वनोपज उत्पादन उत्पादन करे बढ़ावा देकर अधिसूचित वनों पर दबाव कम करना।
  • किसानों की भूमि पर वृक्षारोपण कर उनकी आय बढ़ाना।
  • राज्य में जन सहयोग से वनाच्छादन को बढ़ाना।
आगे पढ़ें
About Images